बिहार में त्रिस्तरीय पंचायतों व ग्राम कचहरियों के लिए पांचवें चरण का मतदान रविवार को सुबह सात बजे से शुरू हो गया है। राज्य निर्वाचन आयोग की ओर से इसके लिए चुनावी तैयारी दुरुस्‍त है। राज्य निर्वाचन आयोग की ओर से मतदान को लेकर 7,810 भवनों में 12,056 बूथों की स्थापना की गई है। मतदान को लेकर वोटरों का उत्‍साह देखते ही बन रहा है। मौसम सुहाना होने के कारण दिनभर मतदान की रफ्तार तेज रहने की उम्‍मीद है। मतदाता सुबह छह बजे से ही मतदान केंद्रों पर पहुंचने लगे थे।

इस चरण के मतदान में 67 लाख 46 हजार 545 मतदाता अपने मताधिकार का प्रयोग करेंगे। इसमें 35 लाख 38 हजार 500 पुरुष जबकि 32 लाख सात हजार 791 महिला मतदाता शामिल हैं। पांचवें चरण में कुल 26 हजार 91 पदों के लिए मतदान कराया जा रहा है। इसमें ग्राम पंचायत सदस्य के 11553 पद, मुखिया के 845 पद, पंचायत समिति सदस्य के 1171 पद, जिला परिषद के 124 पद, ग्राम कचहरी पंच के 11553 पद और सरपंच के 845 पदों के लिए चुनाव होगा।

पांचवें चरण में 92 हजार 972 प्रत्याशी चुनावी मैदान में हैं। इसमें 43211 पुरुष और 49761 महिला प्रत्याशी शामिल हैं। सभी जिला निर्वाचन अधिकारियों को आयोग का निर्देश है कि पारदर्शी चुनाव के लिए विधि-व्यवस्था की स्थिति पर पैनी नजर रखें। स्वच्छ एवं शांतिपूर्ण मतदान के लिए बूथों पर बिजली आपूर्ति को लेकर आ रही कठिनाइयों को दूर करने और सचेत रहने की चेतावनी दी गई है। पांचवें चरण के मतों की गिनती 26 और 27 अक्टूबर को होगी।

बोगस वोटिंग रोकने के लिए आयोग की ओर से मतदाताओं के बायोमीट्रिक सत्यापन और लाइव वेबकास्टिंग के जरिए प्रखंड, जिला और प्रदेश स्तर पर इसकी मानीटरिंग की व्यवस्था की गई है।

source-jagarn

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here