वाराणसी :-काशी पुराधिपति महादेव का दर्शन करने आने वाले श्रद्धालु अब मोबाइल और अपने सामान के साथ ही धाम में प्रवेश करेंगे। काशी विश्वनाथ धाम में बने यात्री सुविधा केंद्र में उनके सामान व मोबाइल को रखने की व्यवस्था होगी। इसके लिए मुख्य द्वार पर बैग स्कैनिंग की व्यवस्था होगी और इसके बाद बाद भक्त बिना जांच के ही काशी विश्वनाथ धाम तक निर्बाध तरीके से पहुंच पाएंगे। पावन मास सावन में उमड़ने वाले भक्तों की सहूलियत के लिए जुलाई में सुरक्षा समिति की बैठक जुलाई के पहले सप्ताह में दोबारा होगी। उधर, मंदिर की सुरक्षा पुख्ता करने के लिए कंसलटेंट सीआईएसएफ की रिपोर्ट का इंतजार किया जा रहा है।

काशी विश्वनाथ मंदिर की मंगलवार को हुई सुरक्षा समिति की बैठक में निर्णय लिया गया कि काशी विश्वनाथ के दर्शन करने आने वाले भक्तों को मोबाइल के साथ प्रवेश दिया जाए। धाम परिसर में दुकानों के आवंटन के साथ ही यहां डिजिटल पेमेंट सहित अन्य सुविधाओं को ध्यान में रखते हुए यह निर्णय लिया गया। इसके साथ ही धाम परिसर में बने यात्री सुविधा केंद्रों को पूरी क्षमता से संचालित करने की कार्ययोजना भी बनाई गई। इसके लिए भक्तों को पूरे सामान के साथ मंदिर में प्रवेश दिया जाएगा, इसके लिए स्कैनिंग मशीन से बैगेज आदि की जांच गेट पर करने की व्यवस्था होगी।

बैठक में काशी विश्वनाथ धाम की सुरक्षा को पुख्ता करने के लिए कार्ययोजना बनाने वाली कंसलटेंट सीआईएसएफ के कमांडेंट ने बताया कि चार चरणों में जांच के बाद मंदिर में प्रवेश की व्यवस्था की रिपोर्ट तैयार कराई जा रही है। इस रिपोर्ट को एक सप्ताह में तैयार कर सौंप दिया जाएगा। इससे पहले अपर पुलिस महानिदेशक सुरक्षा विनोद सिंह मंगलवार को काशी विश्वनाथ धाम की सुरक्षा का जायजा लेने के लिए पहुंचे। दोपहर में मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल, पुलिस आयुक्त ए सतीश गण्ेाश सहित अन्य अधिकारियों के साथ उन्होंने धाम परिसर का निरीक्षण किया।

बैठक में काशी विश्वनाथ धाम की सुरक्षा को पुख्ता करने के लिए कार्ययोजना बनाने वाली कंसलटेंट सीआईएसएफ के कमांडेंट ने बताया कि चार चरणों में जांच के बाद मंदिर में प्रवेश की व्यवस्था की रिपोर्ट तैयार कराई जा रही है। इस रिपोर्ट को एक सप्ताह में तैयार कर सौंप दिया जाएगा। इससे पहले अपर पुलिस महानिदेशक सुरक्षा विनोद सिंह मंगलवार को काशी विश्वनाथ धाम की सुरक्षा का जायजा लेने के लिए पहुंचे। दोपहर में मंडलायुक्त दीपक अग्रवाल, पुलिस आयुक्त ए सतीश गण्ेाश सहित अन्य अधिकारियों के साथ उन्होंने धाम परिसर का निरीक्षण किया।

एयरपोर्ट की तर्ज पर होगी प्रवेश की व्यवस्था
धाम परिसर की सुरक्षा की कार्ययोजना तैयार कर रही सीआईएसएफ एयरपोर्ट की तर्ज पर प्रवेश की रिपोर्ट तैयार कर रही है। इसमें फेस रिकगनाइज कैमरे से व्यक्ति की पहचान सुनिश्चित की जाएगी, इसके लिए भक्त को अपना पहचान पत्र भी दिखाना होगा। इसके बाद उसके बैग की जांच के बाद उसे अंदर भेजा जाएगा। यहां के बाद यात्री सुविधा केंद्र में जांच की व्यवस्था होगी और सबसे अंतिम में मंदिर परिसर में जांच कर उन्हें बाबा के दरबार में दर्शन के लिए भेजा जाएगा।सुरक्षा समिति की बैठक में मोबाइल के साथ धाम परिसर में प्रवेश पर सहमति बनी है। यात्री सुविधा केंद्र को पूरी तरह संचालित कर दिया गया है और यहां भक्त अपना सामान आदि रख सकेंगे। भक्तों के लिए व्यवस्था में बदलाव किया गया है। – दीपक अग्रवाल, मंडलायुक्त

इनपुट:- अमर उजाला

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here