LPG के बढ़ते दाम से ग्राहक हैं परेशान,सालभर में घरेलू गैस सिलेंडर ₹244 महंगा, इन लोगों को मिल रहा ₹853 में
LPG के बढ़ते दाम से ग्राहक हैं परेशान,सालभर में घरेलू गैस सिलेंडर ₹244 महंगा, इन लोगों को मिल रहा ₹853 में

देशभर में महंगाई अपने चरम पर है। इस समय फ्रूट्स से लेकर वेजिटेबल्स तक और खाने का तेल से लेकर इलेक्ट्रिसिटी तक के दाम आसामन पर हैं। वहीं, रसोई गैस सिलेंडर एलपीजी (LPG) की कीमत रिकॉर्ड स्तर पर पहुंच गई है। इस महंगाई ने आम आदमी से लेकर निचले तबके के लोगों की मुश्किलें बढ़ा दी हैं। इस सप्ताह रसोई गैस के दाम में 50 रुपये प्रति 14.2 किलोग्राम सिलेंडर की बढ़ोतरी की गई। पिछले एक साल में कुल बढ़ोतरी 244 रुपये हो गई। यानी सालभर में एलपीजी 30 प्रतिशत तक महंगी हुई है।

इन लोगों को 853 रुपये का भुगतान करना होगा 
गैर-सब्सिडी वाला एलपीजी (उज्ज्वला योजना की गरीब महिला लाभार्थियों को छोड़कर) दिल्ली और मुंबई में अब 14.2 किलोग्राम का सिलेंडर 1053 रुपये का हो गया है। वहीं, कोलकाता में 1079 और चेन्नई में आज से 1068.50 रुपये का मिल रहा है। जबकि उज्ज्वला लाभार्थियों (ujjwala yojana) को 853 रुपये का भुगतान करना होगा। 

बढ़ते दाम से ग्राहक हैं परेशान
आंध्र प्रदेश के तेनाली शहर में 38 साल की एक गृहिणी एम मल्लिका ने कहा, “LPG धुआं रहित है बावजूद  यह हमारे आंखों में आंसू ला रही है।” उन्होंने कहा कि तीन महीनों में, बिना टैक्स के प्रति सिलेंडर की कीमत में 150 रुपये की बढ़ोतरी  हुई है और कुल मिलाकर यह लगभग 160 रुपये है। एक सिलेंडर अब 1,075 रुपये (आंध्र प्रदेश में) है। यह निश्चित रूप से हमारे ऊपर भारी बोझ है। बता दें कि वैट जैसे स्थानीय टैक्स के चलते  फ्यूल प्राइस एक राज्य से दूसरे राज्य में अलग होती हैं।

निम्न आय वर्ग की कमाई का 10% फ्यूल पर खर्च 
कीमतों में बढ़ोतरी ने खास कर  निम्न आय वर्ग जैसे गृहिणी, ड्राइवर, सुरक्षा गार्ड, दैनिक वेतन भोगी, सेल्समैन और वेटर को प्रभावित किया है जो प्रति माह 10,000 से 15,000 रुपये कमाते हैं। अकेले खाना पकाने के फ्यूल का बिल उनकी कमाई का लगभग 10 प्रतिशत है।
कोलकाता की नुपुर दासगुप्ता जो SBI कर्मचारी हैं, वे कहती हैं, “इन दिनों हमारे लिए रसोई गैस सिलेंडर का खर्च वहन करना काफी मुश्किल है। हर महीने घरेलू गैस सिलेंडर की कीमत बढ़ जाती है, जिससे हमारे घर के बजट बिल को संतुलित करना और भी मुश्किल हो जाता है। हम खाना पकाने के वैकल्पिक तरीकों की तलाश कर रहे हैं … शायद सौर, शायद कुछ और।” 
एक अन्य गृहिणी एस प्रभावती ने बताया कि पिछले दो सालों में एलपीजी सिलेंडर की कीमत 500 रुपये बढ़ी है। वे कहती हैं, “कीमतें आसमान पर हैं और हमें सब्सिडी के नाम पर 18 रुपये, 15 रुपये, 3 रुपये वापस मिल रहा है। हर बार जब हम एक रिफिल खरीदते हैं, तो हम अब 53 रुपये अतिरिक्त भुगतान कर रहे हैं।”

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here