मधुबनी: प्‍यार में लोग क्‍या कुछ कर बैठते हैं, इसका अंदाजा नहीं लगाया जा सकता है. मधुबनी में ऐसा ही एक मामला सामने आया है. एक युवती की इज्‍जत को पहले उसके प्रेमी ने लूटा फ‍िर निजी नर्सिंग होम वालों ने उसकी जिंदगी नर्क बना दी. पूरा मामला मंगलवार को उस वक्‍त सामने आया जब पुलिस ने इस मामले में एफआईआर दर्ज कर जांच शुरू की. 

मधुबनी के भैरवस्थान थाना क्षेत्र की एक युवती का गांव के ही लड़के से प्रेम-प्रसंग चल रहा था. शादी का झांसा देकर उसने युवती के साथ कई बार शारीरिक संबंध भी बनाए. इस बीच युवती गर्भवती हो गई. जब लड़के को इसकी जानकारी दी तो उसने पहले शादी करने की बात कही, लेकिन बाद में वह टाल गया. इस बीच युवती के शरीर में बदलाव नजर आने लगा. 

शनिवार को अस्‍पताल में आई थी जांच कराने 

युवती गांव की ही एक महिला के साथ शनिवार को झंझारपुर अनुमंडल मुख्यालय के ठीक सामने एक निजी नर्सिंग होम में जांच कराने आई थी. जहां उसका स‍िजेरियन कर दिया गया. नर्सिंग होम संचालक ने इस बात की जानकारी युवती के माता-पिता तक को नहीं दी. युवती की मां ने बताया कि रविवार की सुबह उन्‍हें इसकी जानकारी मिली. वे लोग नर्सिंग होम पहुंचे, जहां उसकी बेटी बेड पर दर्द से कराह रही थी. युवती को नर्सिंग होम लाने वाली गांव की महिला भी वहां से गायब थी. इसके बाद उन्‍होंने मंगलवार को एफआईआर दर्ज कराई. 

शादी का झांसा देकर करता रहा शारीरिक शोषण 

निजी नर्सिंग होम में भर्ती युवती ने पूछताछ के दौरान बताया कि स्‍कूल जाने के दौरान गांव के ही एक युवक के साथ उसका प्रेम-प्रसंग चल रहा था. इसके बाद शादी का झांसा देकर उसने कई बार शारीरिक संबंध बनाया. शादी के लिए जब भी वह कुछ कहती तो युवक टाल जाता था. कुछ दिनों तक तो उसे कुछ पता नहीं चला, लेकिन इसके बाद उसके शरीर में बदलाव आने लगा. ये बात जब युवक को बताई तो वह करीब डेढ़ महीने पहले गांव छोड़कर मुंबई अपने बहनोई के यहां चला गया. लड़के की मां से शिकायत करने पर वह उल्टे डांट-फटकार करने लगती थी. 
 
सिविल सर्जन ने जांच के लिए गठित की टीम 

वहीं इस मामले को लेकर सिविल सर्जन ने जांच टीम गठित कर दी है. टीम के प्रभारी चिकित्‍सक डॉ कुणाल मिश्रा ने बताया कि एक कर्मी को जांच के लिए भेजा गया था. 15 दिन पहले भी उस नर्सिंग होम की जांच की गई थी, उसे कागजात जमा करने का निर्देश दिया गया था. पीएचसी प्रभारी डॉ मुकेश कुमार ने कहा कि परिजन को कहा गया है कि अगर किसी तरह की परेशानी होगी तो वे तुरंत अनुमंडल अस्पताल आएं. पुलिस अधिकारी राशिद परवेज ने बताया कि युवती का बयान लिया जा रहा है, उसी आधार पर कार्रवाई की जाएगी. 

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here