बिहार में मानसून ने कहर ढाना शुरू कर दिया है। राज्य में आंधी-बारिश और ठनका गिरने से शनिवार को 10 लोगों की मौत हो गई। कोसी, सीमांचल, पूर्वी बिहार और वैशाली में आंधी-बारिश का कहर देखने को मिला। सबसे ज्यादा वैशाली में ठनका से तीन लोगों की जान चली गई। वहीं, खगड़िया में दो, सहरसा-मधेपुरा और कटिहार में एक-एक शख्स की ठनका की चपेट में आने से मौत हो गई। भागलपुर में भी बारिश ने दो लोगों की जिन्दगी छीन ली।

भागलपुर में तेज आंधी और बारिश के चलते सेंट्रल जेल के बाहर पेड़ गिर गया। इसके नीचे दबने से जवारीपुर निवासी एक युवक की मौत हो गई। वहीं सीमेंट की चादर गिरने से एक महिला की मौत हो गई। वह लोदीपुर की रहने वाली थी।

वैशाली जिले में शनिवार को आकाशीय बिजली ने कहर ठाया। मानसून की दस्तक के साथ ही जिले के कई हिस्सों में वज्रपात के साथ मूसलाधार बारिश हुई। इस दौरान ठनका की चपेट में आने से दो अलग-अलग जगहों पर दो बच्चों समेत तीन लोगों की मौत हो गई।

पहली घटना बरांटी ओपी के अंधड़बाड़ा पंचायत में हुई। यहां आम के बगीचे में ठनका गिरने से दो किशोरों की जान चली गई। दूसरी घटना राधोपुर प्रखंड के फतेहपुर में हुई। यहां एक झोपड़ी पर ठनका गिरने से एक शख्स की मौत हो गई और पांच लोग गंभीर रूप से झुलस गए।

इसी तरह खगड़िया जिले के चौथम थाना इलाके में स्थित सहोरबा गांव में शनिवार को ठनका गिरने से मां और बेटी की जान चली गई।

LEAVE A REPLY

Please enter your comment!
Please enter your name here